टर्म इन्शुरन्स क्या होता है | Term Life Insurance Explained in Hindi

टर्म इंश्योरेंस (Term Life Insurance) क्या है

भारत में बड़ी संख्या में ऐसे लोग हैं, जो टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदते हैं। यह एक तरह का बीमा ही है, जिसके जरिए मृतक के परिवार को एक मुश्त राशि प्रदान की जाती है। इसका प्रीमियम दूसरे सभी तरह के बीमा प्रीमियमों से काफी कम होता है। इस आर्टिकल में टर्म इंश्योरेंस (Term Life Insurance) के बारे में विस्तार से बताया जा रहा है। टर्म इंश्योरेंस का फायदा क्या है, इससे जुड़े पहलुओं को भी साझा किया जाएगा। पूरी जानकारी हासिल करने के लिए आप आर्टिकल को आखिरी तक जरूर पढ़ें।

इमरजेंसी क्रेडिट लाइन स्कीम (जीईसीएलएस) क्या है | Emergency Credit Line (GECLS) in Hindi

टर्म इंश्योरेंस में मैच्योरिटी का प्रावधान नहीं है

टर्म इंश्योरेंस दूसरे कई तरह के बीमा से थोड़ा अलग है। इसमें किसी तरह की मैच्योरिटी का प्रावधान नहीं होता है। टर्म इंश्योरेंस मृत्यू को ध्यान में रखकर कराया जाता है। संबंधित व्यक्ति की मृत्यू होने के बाद इंश्योरेंस का पैसा मृतक के परिवार को मिल जाता है। जबकि दूसरे तरह के बीमा में मृत्यू के बाद परिवार के सदस्यों को इंश्यारेंस का पैसा तो मिलता ही है, मैच्योरिटी भी मिलती है।

टर्म इंश्योरेंस में प्रीमियम कम होता है

टर्म इंश्योरेंस का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसका प्रीमियम बहुत कम होता है। लोगों को प्रीमियम अदा करने में किसी तरह की दिक्क्तों का सामना नहीं करना पड़ता है। निम्न मध्यम वर्गीय परिवार के सदस्यों के साथ आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोग भी टर्म इंश्योरेंस करा सकते हैं। टर्म इंश्योरेंस का प्रीमियम इसीलिए कम रखा जाता है, क्योंकि इसमें मैच्योरिटी का प्रावधान नहीं है। चूंकि दूसरे ज्यादातर बीमा के तहत परिपक्वता यानी मैच्योरिटी भी दी जाती है, इसलिए उनका प्रीमियम भी ज्यादा होता है।

बैंकरप्सी (दिवाला और दिवालियापन) कोड क्या है | Bankruptcy Code Explained in Hindi

टर्म इंश्योरेंस का लिमिट क्या है

अगर आप टर्म इंश्योरेंस के तहत बड़ी पॉलिसी खरीदना चाहते हैं तो यह संभव है। एक व्यक्ति एक करोड़ रुपये तक का टर्म इंश्यारेंस खरीद सकता है। उसे इसके लिए प्रीमियम के रूप में प्रतिमाह 500-550 रुपये तक जमा करने होंगे। यह रकम आमतौर पर 30 साल की अवधि के लिए फिक्स की गई है। अगर कोई व्यक्ति 40 साल की उम्र में एक करोड़ रुपये तक का टर्म इंश्यारेंस खरीदता है तो फिर उसे प्रीमियम के रूप में प्रतिमाह 900-950 रुपये तक अदा करने होंगे। यानी आपकी उम्र जितनी कम होगी, टर्म इंश्योरेंस का प्रीमियम भी कम ही होगा।

Term Life Insurance कब खरीदें

अब सवाल यह है कि टर्म इंश्यारेंस को खरीदने का सही समय क्या है। एक्सपर्ट मानते हैं कि इसके लिए 30 साल की उम्र बेस्ट है। लोग इस उम्र तक लगभग काम-काज में लग जाते हैं। उनकी शादी हो जाती है। इस उम्र में टर्म इंश्योरेंस लेने के बाद लोग परिवार के किसी भी सदस्य को नॉमिनी बना सकते हैं। इस उम्र में पॉलिसी खरीदने के बाद उनका प्रीमियम भी कम होगा। हालांकि बड़ी संख्या में ऐसे लोग हैं, जो 40 साल की उम्र के बाद टर्म इंश्यारेंस खरीदते हैं। उनका तर्क है कि भारत में एक व्यक्ति की औसत जिंदगी करीब 65-70 साल है। इस अवधि में मृत्यु होने के बाद टर्म इंश्यारेंस का फायदा परिवार के सदस्यों को मिल सकता है। 30 साल की उम्र में टर्म इंश्योरेंस के कोलैप्स यानी समाप्त होने का खतरा ज्यादा रहता है। इस स्थिति में प्रीमियम के रूप में लंबे समय तक जमा किए गए लाखों रुपये बर्बाद हो जाते हैं।

सॉवरेन वेल्थ फंड क्या है | What is Sovereign Wealth Fund in Hindi

टर्म इंश्योरेंस के लिए न्यूनतम उम्र

टर्म इंश्योरेंस खरीदने के लिए न्यूनतम उम्र 18 साल होनी चाहिए। जबकि इसके लिए अधिकतम उम्र 65 साल तय की गई है। सिंगल या ज्वाइंट लाइफ के आधार पर प्लान का चयन किया जा सकता है। परिपक्वता की आयु संपूर्ण जीवन के लिए 25 साल, 65 और 75 वर्ष तय की गई है। प्रीमियम की राशि आवेदक की उम्र और बीमित राशि के आधार पर फिक्स है। पॉलिसी  को रीवाइव भी किया जा सकता है। पॉलिसी खत्म होने से दो साल पहले नामांकन की सुविधा उपलब्ध है। प्रीमियम का भुगतान सहूलियत के एतबार से किया जा सकता है। सालाना, छमाही, तिमाही और मासिक स्तर पर भी प्रीमियम का भुगतान किया जा सकता है।

Term Life Insurance के जरिये टैक्स में छूट का लाभ

टर्म इंश्योरेंस के कई दूसरे फायदे भी हैं। प्रीमियम के भुगतान पर आयकर में छूट का प्रावधान है। यह प्रीमियम और बीमा की राशि पर निर्भर है। पॉलिसी की अवधि के दौरान अगर संबंधित व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है तो इसका लाभ परिवार के सदस्यों को मिलता है। स्पेशल कवरेज की व्यवस्था भी रहती है। गंभीर बीमारी के कारण होने वाली मौत या एक्सीडेंटल डेथ को ध्यान में रखकर भी टर्म इंश्योरेंस कराया जा सकता है। इस तरह के कई दूसरे प्रावधान हैं, जो टर्म इंश्योरेंस के साथ जोड़े गए हैं।

राइट शेयर (Rights issue) क्या है | What is Rights issue Explained in Hindi

Term Life Insurance कैसे खरीदें

टर्म इंश्योरेंस को आसानी के साथ खरीदा जा सकता है। भारत में ढेर सारे वित्तीय संस्थान हैं, जो टर्म इंश्यारेंस की सुविधा प्रदान करते हैं। उनकी वेबसाइट पर जाकर टर्म इंश्योरेंस के बारे में पूरी जानकारी हासिल की जा सकती है। ऑनलाइन पॉलिसी खरीदने की व्यवस्था भी है। लोग एजेंटों के जरिए भी पॉलिसी को खरीद सकते हैं। हालांकि इसके लिए इंश्योंरेस कंपनियों के बैक ग्राउंड को जरूर देखना चाहिए। रिकार्ड और वित्तीय स्थिति को भी देखना चाहिए। कंपनी के साथ सीधे तौर पर जुड़कर पॉलिसी खरीदने को अच्छा समझा जाता है।

चेक कितने प्रकार के होते हैं (Types of Cheque in Hindi) | चेक भरने का सही तरीका क्या है

Munendra Singh

Leave a Comment

%d bloggers like this: