राजस्थान संपर्क पोर्टल | हेल्पलाइन नम्बर, ऑनलाइन शिकायत (sampark.rajasthan.gov.in)

Rajasthan Sampark Portal

राजस्थान सरकार प्रदेश के लोगों को न सिर्फ तमाम तरह की सुविधा प्रदान कर रही है, बल्कि सुविधा न मिलने पर उन्हें शिकायत करने का मौका भी दे रही है। इस कड़ी में “राजस्थान संपर्क पोर्टल” को लांच किया गया है। पोर्टल के जरिए लोग अपनी समस्याओं से निजात पा सकते हैं। इस आर्टिकल में संपर्क पोर्टल के बारे में विस्तार से बताया जा रहा है। ऑनलाइन शिकायत करने का तरीका भी बताया जाएगा। पूरी जानकारी हासिल करने के लिए आर्टिकल को अंत तक पढ़ सकते हैं।

संपर्क पोर्टल (Sampark Portal) के फायदे

राजस्थान संपर्क पोर्टल के कई फायदे हैं। शिकायत के लिए अब किसी भी कार्यालय में उपस्थित होने की जरूरत नहीं है। निशुल्क शिकायत करने की व्यवस्था है और त्वरित निस्तारण की बात भी कही गई है। शिकायत का निस्तारण न होने पर उच्चाधिकारियों से इसकी शिकायत की जा सकती है। खास बात यह है कि जिनके पास स्मार्टफोन है, वे नेटिव एप्लीकेशन को भी डाउनलोड कर सकते हैं।

Rajasthan Sampark Portal के तहत शिकायतों की निगरानी

शिकायतों की निगरानी की जाएगी। समाधान न होने पर महीने के पहले गुरुवार को संबंधित विभाग के साथ व्यक्तिगत सुनवाई की सुविधा मुहैया कराई जा रही है। पंचायत समिति स्तरीय संपर्क केंद्र पर उपखंड अधिकारी की अध्यक्षता में भी शिकायतों की निगरानी की जाएगी। यहां संतुष्टि न मिलने पर महीने के दूसरे गुरुवार को जिलाधिकारी की अध्यक्षता में होने वाली मीटिंग में अपनी बात रखी जा सकती है। इसी तरह जिला स्तरीय सुनवाई से संतुष्ट न होने पर राज्य स्तर पर भी शिकायत की जा सकती है।

Rajasthan Sampark Portal Online शिकायत दर्ज करने की प्रक्रिया

  • राजस्थान संपर्क पोर्टल के जरिए ऑनलाइन शिकायत की जा सकती है। इसके लिए सरकार की ऑफीशियल वेबसाइट sampark.rajasthan.gov.in पर विजिट करना होगा।
  • होम पेज पर “शिकायत दर्ज करें” ऑप्शन पर क्लिक कर सकते हैं। इसके बाद “रजिस्टर ग्रिवांस” ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद नया पेज ओपन होगा, जिसमें अपना नाम और मोबाइल नंबर लिखकर शिकायत संबंधित दस्तावेज को अपलोड करना होगा।
  • दस्तावेज को अपलोड करने के बाद सबमिट बटन पर प्रेस कर सकते हैं। फार्म का दूसरा पार्ट ओपन हो जाएगा।
  • फार्म पर सभी जरूरी जानकारी दर्ज कर एक बार फिर से सबमिट बटन पर प्रेस करना होगा। शिकायत दर्ज करने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

राजस्थान संपर्क पोर्टल के तहत ऑनलाइन स्टेटस भी देख सकते हैं।

  • पोर्टल के जरिए शिकायत की स्थिति को भी देखा जा सकता है। इसके लिए पोर्टल पर विजिट करना होगा।
  • पोर्टल पर विजिट करने के बाद होम पेज पर शिकायत की स्थिति देखें ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद स्क्रीन पर नया पेज ओपन हो जाएगा। यहां मोबाइल नंबर, ग्रिवांस आईडी लिखने के बाद नीचे हुए टेक्स्ट को लिखें।
  • इसके बाद व्यू विकल्प पर क्लिक करना होगा। यहां कोई भी व्यक्ति शिकायत की स्थिति को देख सकता है।
  • एक महीने के अंदर शिकायत का निवारण किया जाएगा। अगर ऐसा नहीं होता है तो दोबारा शिकायत की जा सकती है।

राजस्थान संपर्क पोर्टल हेल्पलाइन नंबर पर फोन कर सकते हैं

अगर शिकायत का निवारण नहीं किया जा रहा है, या इसमें हीलाहवाली बरती जा रही है तो सचिवालय के नंबर पर फोन किया जा सकता है। लोग 91(141)2227889 नंबर पर कॉल कर सकते हैं। सरकार की ऑफीशियल वेबसाइट cmv@rajasthan.gov.in ई-मेल भी भेजा जा सकता है। सरकार ई-मेल और पब्लिक कॉल पर गंभीरता से काम करती है। लापरवाही बरतने वाले संबंधित विभागों और अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई भी की जा सकती है।

Rajasthan Sampark Toll Free Number

सरकार ने शिकायत के लिए एक टोल फ्री नंबर भी जारी किया है। लोग बिजली, पानी, सड़क, कॉलेज, सड़क, साफ-सफाई, जलनिकासी, भूमि विवाद आदि के लिए टोल फ्री नंबर 181 पर फोन कर सकते हैं। शिकायतकर्ता से यहां पूरी डिटेल हासिल करने के बाद संबंधित विभागों को जवाबदेह किया जाएगा। लोगों को इस दौरान अपना मोबाइल नंबर, नाम, मुहल्ला आदि की जानकारी देना होगा।

एसएमएस के जरिए मिलेगी सूचना

शिकायत के बाद संबंधित विभागों द्वारा व्यक्ति के मोबाइल नंबर पर एसएमएस के जरिए सूचना भेजी जाएगी। उन्हें शिकायत की स्थिति से अवगत कराया जाएगा। बेहतर है कि इस दौरान न्यायालय में विचाराधीन मामलों को दर्ज न किया जाए। गलत शिकायत दर्ज करने पर परिवादी जवाबदेह होगा। फर्जी शिकायत करने वालों के खिलाफ कार्रवाई भी की जा सकती है।

Munendra Singh

Leave a Comment

%d bloggers like this: