प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना क्या है | PMMSY Scheme Explained in Hindi

PM MATSYA SAMPADA YOJANA

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना अब परवान चढ़ रही है। सरकार इसके जरिए मत्स्य पालन के विकास की कवायद में जुट गई है। इसके लिए बजट में बड़ी राशि की व्यवस्था की गई है। लोगों को बड़ी संख्या में रोजगार मिलेगा। इस आर्टिकल में प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना (PM MATSYA SAMPADA YOJANA) के बारे में विस्तार से बताया जा रहा है। योजना के लिए पात्रता नियम के बारे में भी बताया जाएगा। पूरी जानकारी हासिल करने के लिए आर्टिकल को आखिरी तक जरूर पढ़ें।

पशु लोन योजना क्या है | डेयरी फार्म/पशुपालन सब्सिडी पात्रता | फॉर्म डाउनलोड (आवेदन)   

प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना के लिए बजट

भारत सरकार ने प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के लिए बजट में 20 हजार करोड़ रुपये की व्यवस्था की है। यह पैसा पूरी तरह मत्स्य पालन के विकास पर खर्च किया जाएगा। मरीन, इनलैंड फिशरी और एक्वाकल्चर में गतिविधियों के लिए करीब 11 हजार करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। इसी तरह फिशिंग हार्बर और कोल्ड चेन, केज कल्चर, सीवीड फार्मिंग, ऑर्नामेंट फिशरीज, न्यू फिशिंग वेसेल और लेबोरेटरी नेटवर्क के लिए भी 9 हजार करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है, जिसके तहत कई छोटे-बड़े बाजारों को भी विकसित किया जाएगा।

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के तहत मछली का उत्पादन बढ़ेगा

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना पर इतनी बड़ी राशि खर्च करने का मकसद मछली उत्पादन क्षमता को बढ़ाना है। माना जा रहा है कि अगले पांच सालों में अतिरिक्त 70 लाख टन मछली का उत्पादन हो सकेगा। यह मत्स्य निर्यात को दोगुना कर देगा। मछली उत्पादन क्षमता बढ़ने के बाद इसका निर्यात एक लाख करोड़ रुपये तक हो सकता है। इसके लिए बुनियादी ढांचों में भी सुधार किया जाएगा। बजट में इसके लिए अलग से बढ़ी हुई राशि का इंतजाम किया गया है।

एमएसएमई लोन योजना क्या है | लघु कारोबार लोन योग्यता मानदंड, MSME ऑनलाइन ऋण सुविधा

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना से 55 लाख लोगों को मिलेगा रोजगार

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना मत्स्य पालन के विकास के लिए मील का पत्थर साबित होगी। योजना में मछुआरों की स्थिति को भी ध्यान में रखा गया है। उनके लिए लोन की व्यवस्था की गई है। वे बैंकों से लोन हासिल कर अपने कारोबार को बढ़ा सकते हैं। सरकारी नुमाइंदों का दावा है कि योजना पर नए सिरे से करीब 20 हजार करोड़ रुपये खर्च होने के बाद रोजगार के अवसर बढ़ जाएंगे। इस क्षेत्र में करीब 55 लाख लोगों को रोजगार मिल सकता है। सरकार इंफ्रास्ट्रक्चर पर भी पैसे खर्च करेगी।

PMMSY के लिए पात्रता

  • भारत सरकार ने प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के लिए पात्रता भी तय किया है। इस क्षेत्र से जुड़े लोगों को नियमों का पालन करना होगा।
  • योजना में मुख्य रूप से मछुआरों को शामिल किया जाएगा। मछली पकड़ने और उन्हें बेचने के कारोबार से जुड़े लोग भी इसका हिस्सा बन सकते हैं।
  •  ऐसे लोग, जो जलीय जीवों की खेती के अलावा, जलीय कृषि का भी काम कर रहे हैं, उन्हें इसका लाभ मिल सकता है।
  • प्राकृतिक आपदा से पीड़ित व्यक्तियों को भी इस योजना में शामिल किया जाएगा। उनके लिए रहने और खाने-पीने का इंतजाम किया जाएगा।

पोस्ट ऑफिस से लोन कैसे ले | Post Office Loan Scheme in Hindi (पात्रता और नियम)

PM MATSYA SAMPADA YOJANA के तहत मछुआरों के लिए बीमा कवरेज

इस योजना के तहत मछुआरों को कारोबार खड़ा करने के लिए बैंकों द्वारा लोन दिया जाएगा। सरकार ने इसके लिए बैंकों को सर्कुलर जारी किया है। सर्कुलर में बैंकों को निर्देश दिया गया है कि मत्स्य पालन के लिए आवेदन करने वालों को ऋण उपलब्ध कराया जाए। यही नहीं, एलआईसी द्वारा उनका बीमा भी किया जाएगा। चूंकि इस क्षेत्र में तमाम तरह के खतरे भी हैं, इसलिए परिवार की सुरक्षा के लिए मछुआरों का जीवन बीमा कराया जाएगा। सरकार द्वारा संचालित दूसरी अन्य योजनाओं के तहत भी उन्हें लाभांवित किया जा सकता है।

बचत बैंक खाता (Saving Account) क्या है | SB में कितना पैसे जमा कर सकते है (नियम)

PM MATSYA SAMPADA YOJANA के लिए आवेदन कैसे करें

केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के लिए बजट तो जारी कर दिया है, लेकिन दूसरी कवायदों पर अभी काम चल रहा है। योजना को संचालित करने की जिम्मेदारी मत्स्यिकी विभाग के पास है। विभागीय अधिकारियों के मुताबिक इसके लिए जल्द ही ऑनलाइन या ऑफलाइन आवेदन की व्यवस्था शुरू की जाएगी। सरकार की कोशिश यही है कि ज्यादा से ज्यादा लोगों तक इस योजना का लाभ पहुंचे, जिसके लिए पूरी तैयारी की जा चुकी है।

फिक्स्ड डिपॉजिट | Fixed deposit (सावधि जमा) क्या है | FD कैसे कैलकुलेट करते है 

Munendra Singh

Leave a Comment

%d bloggers like this: