Lockdown 4.0 Guidelines in Hindi | लॉकडाउन में क्या बंद रहेगा और क्या खुला रहेगा

Lockdown 4.0 Guidelines

भारत में तेजी से बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामले को लेकर केंद्र सरकार और ज्यादा गंभीर हो गई है। सरकार ने इसको देखते हुए लॉकडाउन-4 का एलान किया है। हालांकि पिछले तीनों लॉकडाउन की तुलना में इसमें कुछ जरूरी ढील दी गई है, लेकिन राज्य सरकारों को इसके साथ प्रतिबंधों पर कड़ाई से अमल करने को भी कहा गया है। इस आर्टिकल में लॉकडाउन-4 की पूरी जानकारी दी जा रही है। सरकार की ओर से जारी गाइडलाइंस में किन चीजों पर प्रतिबंध जारी है और किन चीजों में ढील दी गई है, इससे जुड़े पहलुओं को भी साझा किया जाएगा। पूरी जानकारी हासिल करने के लिए आप आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें।

आर्थिक जनगणना (Indian Economic Census) क्या है | महत्व | कैसे की जाती है

Lockdown 4.0 की अवधि31 मई तक रहेगा

केंद्र सरकार ने लॉकडाउन को बढ़ाकर 31 मई, 2020 तक कर दिया है। यह लॉकडाउन पूरे देशभर में लागू होगा। केंद्र शासित प्रदेशों को भी सरकार के दिशा-निर्देशों का पालन करना होगा। यह चौथा लॉकडाउन है। इससे पहले तीन और लॉकडाउन की मियाद पूरी हो चुकी है। 24 मार्च, 2020 को पहला लॉकडाउन किया गया था। यह सिलसिला तब से जारी है। जानकारों के मुताबिक लॉकडाउन की टर्मनोलॉजी समाप्त नहीं होगी। सरकार बीच-बीच में प्रतिबंधों में ढील देती रहेगी, लेकिन इसे पूरी तरह से समाप्त करने की उम्मीद कम ही नजर आ रही है।

लॉकडाउन 4.0 में क्या बंद रहेंगे

लॉकडाउन-4 में भी सभी तरह के स्कूल और कॉलेज बंद रहेंगे। मॉल और शापिंग कांप्लेक्स भी बंद रहेंगे। स्विमिंग पूल, जिम, व्यायामशाला, सिनेमा हॉल, मल्टीप्लेक्स, थिएटर, ऑडोटोरियम को भी बंद रखा जाएगा। इसी तरह मनोरंजन पार्क, जॉगिंग ट्रैक, असेंबली हॉल, छोटे-बड़े बाजार भी पूरी तरह बंद रहेंगे। इन सभी चीजों पर 31 मई तक प्रतिबंध जारी रहेगा।   

लॉकडाउन 4.0 में धामिर्क कार्यक्रमों पर भी रोक

पिछले तीनों लॉकडाउन की तरह लॉकडाउन-4 में सभी तरह के कार्यक्रमों के आयोजन पर रोक रहेगी। इसमें सांस्कृतिक, राजनीतिक, धार्मिक और सामाजिक कार्यक्रम भी शामिल हैं। सभी मंदिरें, मस्जिदें, चर्च, गुरुद्वारे भी बंद रहेंगे। यहां सामूहिक कार्यक्रमों पर रोक लगाई गई है। इसी तरह सामाजिक और राजनीतिक कार्यक्रमों के लिए भी मंजूरी नहीं दी जाएगी। राज्य सरकारों और स्थानीय प्रशासन को इस तरह के मामले में सख्ती के साथ कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं।

सरकारी प्रतिभूति (Government Securities) क्या है | गवर्नमेंट सिक्योरिटी Examples in Hindi 

लॉकडाउन 4.0 में अंतरराज्यीय यात्री वाहनों को सशर्त अनुमति

लॉकडाउन-4 में अंतरराज्यीय यात्री वाहनों के संचालन को सशर्त शुरू करने की अनुमति दी गई है। जिन राज्यों के बीच बसों का संचालन किया जाएगा, उनके लिए आपसी सहमति जरूरी है। इसके अलावा बसों के संचालन में सरकार की गाइडलाइंस का पूरा पालन करना होगा। थर्मल स्क्रीनिंग का इंतजाम करना होगा। जो लोग, दूसरे प्रदेशों से अपने प्रदेश में दाखिल हो रहे हैं, उन्हें नियम के अनुसार क्वारंटाइन करना होगा। ई-पास का सहारा लेकर निजी वाहनों से घर पहुंच रहे लोगों को इसकी सूचना स्थानीय प्रशासन को देनी होगी।

लॉकडाउन 4.0 में खेल परिसर, स्टेडियम खुल सकते हैं

लॉकडाउन-4 में खिलाड़ियों के लिए थोड़ी राहत है। खेल परिसर और स्टेडियम में खोलने की अनुमति दी गई है। खिलाड़ी प्रेक्टिस के लिए स्टेडियम पहुंच सकते हैं। उन्हें घर से निकलते वक्त मुंह पर मास्क लगाना होगा, हाथों में दस्ताने भी पहनने होंगे। एक बाइक पर एक ही आदमी सवार हो सकता है। बाइक पर दो व्यक्तियों के सवार होने पर उनके खिलाफ कार्रवाई की जा सकती है। गाइउलाइंस में खेल परिसर को खोलने की अनुमति जरूर दी गई है, लेकिन दर्शक दाखिल नहीं हो सकेंगे।

वीजा क्या होता है | वीजा कितने प्रकार के होते हैं | Visa Explained in Hindi

लॉकडाउन 4.0 के दौरान जरूरी सेवाओं के लिए छूट

लॉकडाउन-4 में जरूरी सेवाओं के लिए छूट दी गई है। लोग नियमों का पालन करते हुए जरूरी काम के लिए घरों से निकल सकते हैं। चिकित्सीय सेवा के लिए भी घरों से निकलने की छूट दी गई है। सभी तरह के मेडिकल स्टोर खुले रहेंगे। गल्ले की दुकानें भी तय समय के हिसाब से ही खुल सकेंगी। एंबुलेंस पर किसी तरह की रोक नहीं है। निजी और सरकारी, दोनों तरह की एंबुलेंस चल सकती हैं। लोग अस्पतालों में इलाज कराने और मेडिकल स्टोर से दवाएं खरीदने के लिए घरों से निकल सकते हैं।

मुद्रास्फीति (Inflation) किसे कहते हैं | Types of Inflation in Hindi (Explained)

Lockdown 4.0 के दौरान ग्रीन और ऑरेंज जोन में ज्यादा सुविधा

सरकारी प्रतिबंध जोन स्तर पर जारी रहेंगे। जो शहर ग्रीन और ऑरेंज जोन की सूची में हैं, उन्हें प्रतिबंधों में ढील देने की छूट दी गई है। ग्रीन जोन में शामिल शहरों में विशेष ट्रेनों का संचालन किया जाएगा। शराब की दुकानें, सिगरेट-पान-गुटखा की दुकानें खुल सकती हैं। ऑटो-टैक्सी और चार पहिया वाहन चल सकते हैं, लेकिन इसके लिए 1+1 और 1+2 नियमों का पालन करना होगा। इसी तरह ऑरेंज जोन में शामिल शहरों के बीच भी स्पेशल ट्रेनों का संचालन किया जा सकता है। रेड जोन में शामिल शहरों में किसी तरह की छूट नहीं दी गई है। वहां जरूरी चिकित्सीय सेवाओं को छोड़ हर तरह का प्रतिबंध है।

एच 1 बी वीजा क्या है | H1 B Visa Meaning in Hindi (Explained)  

Munendra Singh

Leave a Comment

%d bloggers like this: