फॉर्म 60 क्या होता है | Form 60 Explained in Hindi

फार्म (Form) 60 क्या है

फार्म 60 की कई जगहों पर जरूरत पड़ती है। खासकर सरकार से जुड़े कुछ मामलों में, जिसके लिए फार्म 60 को अनिवार्य किया गया है। अगर किसी व्यक्ति के पास पैन कार्ड नहीं है तो फिर इस स्थिति में फार्म भरना और भी जरूरी हो जाता है। पैन कार्ड होने के बाद भी कई मामलों में इसे भरने की जरूरत पड़ती है। इस आर्टिकल में फार्म (Form) 60 के बारे में विस्तार से बताया जा रहा है। फार्म भरने का तरीका और इसके लिए जरूरी दस्तावेजों के बारे में भी बताया जाएगा। पूरी जानकारी हासिल करने के लिए आप आर्टिकल को आखिरी तक जरूर पढ़ें।

शेयर बाजार (Stock Market) क्या है | शेयर कैसे ख़रीदे – नियम की जानकारी

फार्म 60 का उपयोग कहाँ पड़ता है

फार्म 60 की जरूरत कई जगहों पर पड़ती है। खासकर तब, जब किसी व्यक्ति के पास पैन कार्ड नहीं है। 5 लाख रुपये से ज्यादा कीमत की अचल प्रॉपर्टी खरीदने या बेचने पर फार्म 60 भरना होता है। फोर व्हीलर को खरीदने के लिए भी इसकी जरूरत पड़ेगी। 50 हजार से ज्यादा वाले फिक्स्ड डिपॉजिट अकाउंट के लिए भी फार्म 60 भरवाए जाते हैं। सेविंग अकाउंट में एक बार में 50 हजार या इससे ज्यादा की रकम जमा करने के लिए भी फार्म 60 भरवाए जाते हैं।

सिक्योरिटीज को खरीदने के लिए फार्म 60 आवश्यक

कोई भी कांट्रैक्ट, जिसकी कीमत 10 लाख रुपये से ज्यादा है, इसे हासिल करने के लिए फार्म 60 को भरना होता है। इसी तरह सिक्योरिटीज खरीदने या बेचने के लिए भी फार्म भरने की जरूरत पड़ती है। वित्तीय संस्थान या फिर बैंक में अकाउंट खुलवाने के लिए इसकी जरूरत पड़ेगी। मोबाइल फोन सहित इससे संबंधित कनेक्शन हासिल करने के लिए भी फार्म 60 को भरवाया जाता है। अगर आप होटल या रेस्टोरेंट में 25 हजार रुपये से ज्यादा का खाना खाते हैं तो पेमेंट के साथ फार्म को भरवाया जा सकता है।

पोर्टफोलियो क्या है | Portfolio Meaning in Hindi (शेयर बाजार)

टैक्स में छूट पाने के लिए फार्म 60 आवश्यक

टैक्स में छूट पाने के लिए भी फार्म 60 को भरा जाता है। ऐसे लोग, जिनकी सालाना आय ढाई लाख रुपये से कम है, वे इसे दर्शाने के लिए फार्म को भर सकते हैं। फार्म भरने के बाद उन्हें टैक्स में छूट मिल जाती है। अलबत्ता फार्म 60 का इस्तेमाल गलत जानकारी देने के लिए नहीं करना चाहिए। अगर किसी व्यक्ति की सालाना आय 3 लाख रुपये से ज्यादा है और वह फार्म 60 के जरिए टैक्स में छूट हासिल करने की कोशिश करता तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा सकती है।

फार्म 60 भरने की प्रक्रिया

  • अगर आप किसी खास जरूरत की वजह से फार्म 60 भरना चाहते हैं तो आपको फार्म पर अपना नाम और पता लिखना होगा।
  • फार्म पर पिता का नाम भी लिखना होगा। जन्मतिथि का जिक्र भी करना होगा। ई-मेल आईडी या मोबाइल नंबर भी लिखें।
  • ट्रांजैक्शन की राशि लिखें। अगर टैक्स का आकलन किया गया है तो फिर रेंज, सर्कल और वार्ड का उल्लेख भी करना होगा।
  • फार्म पर आधार नंबर भी दर्ज करना होगा। अगर पैन के लिए आवेदन किया है तो आवेदन तारीख जरूर लिखें।
  • फार्म को सही-सही भरें। ओवर राइटिंग से बचें। अच्छी तरह भरने के बाद फार्म को संबंधित प्राधिकरण में जमा किया जा सकता है।

सेंसेक्स और निफ्टी क्या होता है | Difference & Meanning – Sensex, NIFTY in Hindi

फार्म 60 के लिए जरूरी दस्तावेज

  • फार्म 60 के लिए दस्तावेजों की जरूरत पड़ेगी। दस्तावेजों को फार्म के साथ अटैच करना होता है। इसके बाद ही इसे संबंधित प्राधिकरण में जमा किया जा सकता है।
  • आवेदक के पास दस्तावेज के रूप में आधार कार्ड की कॉपी होनी चाहिए। ड्राइविंग लाइसेंस को भी फार्म के साथ अटैच कर सकते हैं।
  • पासपोर्ट, राशन कार्ड, एजूकेशनल सर्टिफिकेट, बिजली या टेलीफोन के बिल की फोटो कॉपी को भी फार्म के साथ अटैच किया जा सकता है।
  • फार्म पर दर्ज पते से संबंधित कोई भी प्रमाण लगाया जा सकता है। ई-मेल आईडी और मोबाइल नंबर की जरूरत भी पड़ेगी।

सिप क्या होता है | फुल फॉर्म | सिप निवेश कैसे करे (SIP Meaning Explained in Hindi)

पैन कार्ड न होने पर फार्म 60 भरना जरूरी होता है

आमतौर पर फार्म 60 की जरूरत तभी ही पड़ती है, जब किसी व्यक्ति के पास पैन कार्ड नहीं होता है। पैन कार्ड नहीं होने पर लोगों से तमाम तरह की खरीद-फरोख्त, लिमिट से ज्यादा बैंकों में पैसे जमा करने, अकाउंट खुलवाने, प्रॉपर्टी खरीदने आदि के मामले में फार्म 60 को भरवाया जाता है। अगर किसी के पास पैन कार्ड है तो फिर उसे आमतौर पर फार्म जरूरत नहीं पड़ती है। पैन कार्ड दिखाकर या फिर संबंधित फार्म के साथ इसकी फोटो कॉपी को अटैच कर फार्म 60 को भरने के झंझट से बचा जा सकता है। 

बेल आउट पैकेज क्या है | Bail Out Package Meaning in Hindi

Munendra Singh

Leave a Comment

%d bloggers like this: